Kali Kankali, यह भजन के माध्यम से पूजा करने से कई आध्यात्मिक और व्यावहारिक लाभ होते हैं।

Kali Kankali, काली कंकाली मैया शक्ति भवानी लिरिक्स

यह आंतरिक शक्ति और निर्भीकता को विकसित करते हुए माँ काली के प्रति भक्ति को मजबूत करता है। भजन उनकी स्वर्गीय उपस्थिति का आह्वान करता है, जो बाधाओं और नकारात्मकता के खिलाफ सुरक्षा और मार्गदर्शन प्रदान करता है।

काली कंकाली मैया ,
शक्ति भवानी रे ।
अरे दायोडी भुजा पर ,
भेरू खेले हो माँ। २

आगे तो आगे भेरू,
डमरू बजावे रे ।
लारे लारे मैया चली
आवे ओ नाथ । २
काली कंकाली मैया ,
शक्ति भवानी रे ।
अरे दायोडी भुजा पर ,
भेरू खेले हो माँ। २

साची बतावा राजा ,
डर थारो लागे रे।
झूठ मासु बोलियों
कोणी जावे राज। २
काली कंकाली मैया ,
शक्ति भवानी रे ।
अरे दायोडी भुजा पर ,
भेरू खेले हो माँ। २

गंगा तट पे भुत लाग जा,
भक्तो का मन धाम है।
समसानो के वासी है ये ,
सारे जग में नाम है।२
काली कंकाली मैया ,
शक्ति भवानी रे ।
अरे दायोडी भुजा पर ,
भेरू खेले हो माँ। २

के बतलावा राजा ,
के बतलावा राजा रे ।
दान तो में थासु लेबा
आई ओ राज। २
थारो तो शीश रानी ,
मैया ने देवो।
दुनिया माई नाम थारो
होसी ओ राज। २
काली कंकाली मैया ,
शक्ति भवानी रे ।
अरे दायोडी भुजा पर ,
भेरू खेले हो माँ। २

|| जय मकाली ||

माँ काली भजन काली कंकाली पढ़ने के लाभ

“काली कंकाली” भजन के माध्यम से पूजा करने से कई आध्यात्मिक और व्यावहारिक लाभ होते हैं। यह आंतरिक शक्ति और निर्भीकता को विकसित करते हुए माँ काली के प्रति भक्ति को मजबूत करता है। भजन उनकी स्वर्गीय उपस्थिति का आह्वान करता है, जो बाधाओं और नकारात्मकता के खिलाफ सुरक्षा और मार्गदर्शन प्रदान करता है। जप किसी को मानसिक स्पष्टता और भावनात्मक संतुलन प्राप्त करने में मदद कर सकता है, जो कठिन समय के दौरान आराम प्रदान करता है। काली कंकाली भजन भक्तों में अपनापन और आध्यात्मिक जुड़ाव की भावना पैदा करके सांस्कृतिक विरासत और सामुदायिक एकजुटता को भी बढ़ावा देता है।

For video click on this link : https://youtu.be/77NfHMI836M?si=pATY7oQr0mFxILlQ

Kali Kankali

काली देवी की पूजा करने के लाभ

देवी काली की पूजा करने से साहस, सुरक्षा और परिवर्तन आता है। उसका उग्र रूप अहंकार और नकारात्मकता के विनाश का प्रतीक है, जो आंतरिक नवीकरण और आध्यात्मिक विकास को बढ़ावा देता है। काली के प्रति भक्ति व्यक्तियों को अपनी छाया का सामना करने और भय पर काबू पाने के लिए सशक्त बनाती है, जिससे भावनात्मक संतुलन और मुक्ति मिलती है। उसकी इच्छा के प्रति समर्पण करने से, भक्त सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करते हुए और अपने भीतर और आसपास दिव्य स्त्री शक्ति को अपनाते हुए सांत्वना, शक्ति और इच्छाओं की पूर्ति पाते हैं।

अधिक प्रसिद्ध भजन यहाँ पढ़ें।

  1. Ran Mein Kud Padi MaaKali
  2. Chali Chali Mahakali
  3. Kali Kali Jai Ma Kali
  4. Kali Kali Mahakali
  5. Badrinath ji Ki Aarti
Scroll to Top