शिवजी

Karpur Gauram Karunavtaram Lyrics with its benefits

कर्पूर गौरम करुणावतारम मंत्र से मिलते हैं अनगिनत फायदे, जानें इसका महत्व “कर्पूर गौरं करुणावतारं” भगवान शिव की महिमा का स्तोत्र है जो उनकी शांति और करुणा का वर्णन करता है। इसमें शिव को कर्पूर (कपूर) के समान श्वेत, करुणा के अवतार, संसार के पिता, गजचर्म परिधान और स्मशानवासी के रूप में वर्णित किया गया […]

Karpur Gauram Karunavtaram Lyrics with its benefits यहाँ पढ़े

Aisa damru bajaya bholenath ne – shiv bhajan, शिव की पूजा आपको आध्यात्मिक स्तर पर ऊपर उठाती है, ग्रह दोष के दुष्प्रभाव को दूर करती है।

ऐसा डमरू बजाया भोलेनाथ ने – शिव भजन यह भजन भगवान शिव की महिमा का गुणगान करता है, जिससे मन में शांति और भक्ति का संचार होता है। इसे गाने से व्यक्ति के मनोबल और आत्मविश्वास में वृद्धि होती है, और नकारात्मक विचारों से मुक्ति मिलती है। इसके उच्चारण से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता

Aisa damru bajaya bholenath ne – shiv bhajan, शिव की पूजा आपको आध्यात्मिक स्तर पर ऊपर उठाती है, ग्रह दोष के दुष्प्रभाव को दूर करती है। यहाँ पढ़े

Shiv Rudrashtakam

Shiva Rudrashtakam Stotram, नमामी शमीशान निर्वाणरूपं पाठ से महाशिवरात्रि पर कीजिए शिवजी को प्रसन्न।

शिव रुद्राष्टकम संत तुलसीदास जी द्वारा शिव या रुद्र पर एक भक्तिपूर्ण संस्कृत रचना है। यह रामचरित मानस के उत्तर कांड (107 के बाद) में दिखाई देता है। रुद्राष्टकम में भजनों के आठ छंद हैं जो शिव के कई गुणों और कार्यों का वर्णन करते हैं जैसे त्रिपुरा का विनाश और कामदेव का विनाश। Shiva

Shiva Rudrashtakam Stotram, नमामी शमीशान निर्वाणरूपं पाठ से महाशिवरात्रि पर कीजिए शिवजी को प्रसन्न। यहाँ पढ़े

Shiv Raksha Stotra

Shiv Raksha Stotra, भगवान विष्णु की आरती पढ़ने से मन को शांत और संतुलित करती है, और भक्त के मन को शांति का अनुभव होता है।

Shiv Raksha Stotra lyrics in hindi भगवान विष्णु की आरती पढ़ने से मन को शांत और संतुलित करती है, और भक्त के मन को शांति का अनुभव होता है। ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे।भक्तजनों के संकट क्षण में दूर करे॥ जो ध्यावै फल पावै, दुख बिनसे मन का।सुख-संपत्ति घर आवै, कष्ट मिटे

Shiv Raksha Stotra, भगवान विष्णु की आरती पढ़ने से मन को शांत और संतुलित करती है, और भक्त के मन को शांति का अनुभव होता है। यहाँ पढ़े

shiv stuti

Shiv stuti lyrics, आशुतोष शशाँक शेखर पढ़ने से विद्यार्थी उनके विचारों को समझते हैं और उनकी शिक्षा का लाभ उठाते हैं।

Ashutosh shashank shekhar lyrics आशुतोष शशाँक शेखर,चन्द्र मौली चिदंबरा,कोटि कोटि प्रणाम शम्भू,कोटि नमन दिगम्बरा ! निर्विकार ओमकार अविनाशी,तुम्ही देवाधि देव,जगत सर्जक प्रलय करता,शिवम सत्यम सुंदरा ! निरंकार स्वरूप कालेश्वर,महा योगीश्वरा,दयानिधि दानिश्वर जय,जटाधार अभयंकरा ! शूल पानी त्रिशूल धारी,औगड़ी बाघम्बरी,जय महेश त्रिलोचनाय,विश्वनाथ विशम्भरा ! नाथ नागेश्वर हरो हर,पाप साप अभिशाप तम,महादेव महान भोले,सदा शिव शिव संकरा

Shiv stuti lyrics, आशुतोष शशाँक शेखर पढ़ने से विद्यार्थी उनके विचारों को समझते हैं और उनकी शिक्षा का लाभ उठाते हैं। यहाँ पढ़े

Scroll to Top